Monday , 3 July 2017
Latest Happenings
Home » Gyan Ganga » Story Katha » एक तमाचा, वो जिंदगी भर नहीं भुला सका

एक तमाचा, वो जिंदगी भर नहीं भुला सका

a-tamacha-she-could-not-forget-life

a-tamacha-she-could-not-forget-life

एक तमाचा, वो जिंदगी भर नहीं भुला सका

एक तमाचा, वो जिंदगी भर नहीं भुला सका

एक बार दो दोस्त रेगिस्तान के रास्ते अपने घर जा रहे थे। रास्ते में दोनों में कुछ कहा-सुनी हो गई। बात इतनी बढ़ गई की उनमे से एक मित्र ने दूसरे के गाल पर जोर से तमाचा मार दिया। जिस मित्र को तमाचा पड़ा उसे दुःख तो बहुत हुआ किंतु उसने कुछ नहीं कहा। वह झुका और उसने वहां रेत पर ही लिख दिया, ‘आज मेरे सबसे अजीज मित्र ने मुझे तमाचा मारा।’

दोनों मित्र आगे चलते रहे रास्ते में उन्हें एक पानी का तालाब दिखाई दिया और उन दोनों ने पानी में उतर कर नहाने की योजना बनाई। जिस मित्र को तमाचा पड़ा था, वह दलदल में फंस गया और डूबने लगा। किंतु उसके दूसरे मित्र ने उसे बचा लिया।

जब वह बच गया तो बाहर आकर उसने एक पत्थर पर लिखा,’ आज मेरे निकटतम मित्र ने मेरी जान बचाई।’

तब दूसरे मित्र ने पूछा,’जब मैंने तुम्हें तमाचा मारा था तो तुमने बालू में लिखा और जब मैंने तुम्हारी जान बचाई तो तुमने पत्थर पर लिखा, ऐसा क्यों?’

इस पर दूसरे मित्र ने उत्तर दिया, जब कोई हमारा दिल दुखाए, तो हमें उस अनुभव के बारे में बालू में लिखना चाहिए क्योंकि उस चीज को भुला देना ही अच्छा है, क्षमा रुपी वायु शीघ्र ही उसे मिटा देगी। किंतु जब कोई हमारे साथ कुछ अच्छा करे। हम पर उपकार करे तो हमे उस अनुभव को पत्थर पर लिख देना चाहिए जिससे कि कोई भी जल्दी उसको मिटा न सके।’

In English

Once two friends were going to their home via the desert. Something has been heard on both sides of the road. The matter grew so much that one of them hit the other cheek with a sharp slap. The friend who felt depressed had a lot of sadness but he did not say anything. He bowed and wrote on the sand there,’Today my most dear friend struck me with a slap.’

Both friends showed a water tank on their way forward and they both planed for a bath after coming to the water. The friend who had a tama, got stuck in the swamp and started drowning. But his other friend saved him.

When he escaped, he came out and wrote on a stone, Today my closest friend saved my life.’

Then another friend asked, ‘When I hit you, you wrote it in the sand and when I saved your life, then you wrote on stone, why?’

Another friend replied, “When someone hurts our heart, then we should write about that experience in the sand because it is good to forget that thing, the forgiving wind will soon erase it.” But when someone does something good with us If we give thanks, then we should write that experience on the stone so that no one can erase it quickly. ‘

Comments

comments