Tuesday , 7 February 2017
Latest Happenings
Home » Gyan Ganga » Guru_Profile » बाबा रामदेव की जीवनी

बाबा रामदेव की जीवनी

baaba-raamadev-kee-jeevanee

baaba-raamadev-kee-jeevanee

 

baba ram dev

                           Life         Achievments        Works      audio/video       Publication

                                                                         पूरा नाम :- रामकिशन रामनिवास यादव

जन्म :- 26 दिसम्बर 1965

जन्मस्थान :- सैयद अलीपुर,क़स्बा-नांगल चौधरी, जिला-महेन्द्रगढ़, हरियाणा, भारत
पिता :- रामनिवास यादव
माता :- गुलाबो देवी

स्वामी रामदेव जो ज्यादातर बाबा रामदेव के नाम से भी जाने जाते है, उनका जन्म हरियाणा राज्य के महेंद्रगढ़ जिले के अलीपुर में 1965 को हुआ था. रामदेव एक भारतीय, हिंदु स्वामी और प्रसिद्द योगा के लिए जाने जाते है. उनके योग शिबिर में उनके हजारो अनुयायियों की उपस्थिति देखी जाती है. रामदेव बाबा “दिव्य योगा मंदिर संस्थान” के संस्थापक भी है जिसका मुख्य उद्देश जनता के बिच योग का प्रचार-प्रसार करना है.

उनका जन्म नाम रामकिशन यादव था. उन्होंने हरियाणा के शहजादपुर की स्कूल से प्राथमिक शिक्षा ग्रहण की और बाद में योगा और संस्कृत की शिक्षा प्राप्त करने के लिए वे खानपुर गाव के गुरुकुल में शामिल हुए. परिणामतः उन्होंने शिक्षा ग्रहण करने के बाद सन्यासी बनने की घोषणा की और अपना वर्तमान नाम अपना लिया. बाद में उन्होंने जींद जिले की यात्रा की और कालवा गुरुकुल में शामिल हुए और हरियाणा में गाववासियो को मुफ्त में योगा प्रशिक्षण देने लगे.

बाबा रामदेव ने अपने कई साल भारतीय प्राचीन संस्कृति और परम्पराओ को सिखने में व्यतीत किये और साथ ही ध्यान, तपस्या और स्वतः निर्मित योग बनाने लगे. उन्होंने हरिद्वार में पतंजलि योगपीठ की भी स्थापना की. पतंजलि योगपीठ एक ऐसी संस्था है जो योगा और आयुर्वेद की शक्ति का शोध करती है. साथ ही यह संस्था आस-पास के ग्रामवासियों को मुफ्त सेवाए भी प्रदान करती है.

बाबा रामदेव के शैक्षणिक कार्यक्रम बहोत से धार्मिक टी.व्ही. चैनलो पर भी दिखाए जाते है जैसे की आस्था और दुसरे टी.व्ही. चैनल जैसे की जी नेटवर्क, सहारा वन और इंडिया टीवी और साथ ही स्वामी देश भर में और विदेशो में भी बहोत से योगा शिबिर भी लेते रहते है.

2007 में, KITT (Kalinga Institute of Industrial Technology) विश्वविद्यालय ने स्वामीजी के वैदिक विज्ञानं में महत्वपूर्ण योगदान के लिए डॉक्टरेट की उपाधि से सम्मानित किया.

पतंजलि योगपीठ—
ये एक ऐसी संस्था है जिसकी स्थापना योगा और आयुर्वेद पर अभ्यास और शोध करने के लिए की गयी है. भारत में इसके दो कैंपस है, पतंजलि योगपीठ-I & पतंजलि योगपीठ-II, साथ ही ये UK, US, नेपाल, कनाडा और मॉरिशस में भी स्थापित है.
रामदेवजी ने 2006 में पतंजलि योग पीठ संस्था (UK) की स्थापना की थी, जिसका मुख्य उद्देश UK में योगा का प्रचार –प्रसार करना था. इसकी लिए उन्हें वहा स्कॉटिश जमीन भी प्रदान की गयी थी.

Wish4me Inenglish

Poora Naam :- Raamakishan Raamanivaas Yaadav
Janm :- 26 Disambar 1965
Janmasthaan :- Saiyad Aleepur,Qasba-aangal chaudharee, jila-mahendragadh, Hariyaana, Bhaarat
Pita :- Raamanivaas Yaadav
Maata :- Gulaabo devee

Swaamee Raamadev jo jyaadaatar baaba raamadev ke naam se bhee jaane jaate hai, unaka janm hariyaana raajy ke mahendragadh jile ke aleepur mein 1965 ko hua tha. raamadev ek bhaarateey, hindu svaamee aur prasidd yoga ke lie jaane jaate hai. unake yog shibir mein unake hajaaro anuyaayiyon kee upasthiti dekhee jaatee hai. Raamadev Baaba “divy yoga mandir sansthaan” ke sansthaapak bhee hai jisaka mukhy uddesh janata ke bich yog ka prachaar-prasaar karana hai.

unaka janm naam raamakishan yaadav tha. unhonne hariyaana ke shahajaadapur kee skool se praathamik shiksha grahan kee aur baad mein yoga aur sanskrt kee shiksha praapt karane ke lie ve khaanapur gaav ke gurukul mein shaamil hue. parinaamatah unhonne shiksha grahan karane ke baad sanyaasee banane kee ghoshana kee aur apana vartamaan naam apana liya. baad mein unhonne jeend jile kee yaatra kee aur kaalava gurukul mein shaamil hue aur hariyaana mein gaavavaasiyo ko mupht mein yoga prashikshan dene lage.

Baaba Raamadev ne apane kaee saal bhaarateey praacheen sanskrti aur paramparao ko sikhane mein vyateet kiye aur saath hee dhyaan, tapasya aur svatah nirmit yog banaane lage. unhonne haridvaar mein patanjali yogapeeth kee bhee sthaapana kee. patanjali yogapeeth ek aisee sanstha hai jo yoga aur aayurved kee shakti ka shodh karatee hai. saath hee yah sanstha aas-paas ke graamavaasiyon ko mupht sevae bhee pradaan karatee hai.

Baaba Raamadev ke shaikshanik kaaryakram bahot se dhaarmik tee.vhee. chainalo par bhee dikhae jaate hai jaise kee aastha aur dusare tee.vhee. chainal jaise kee jee netavark, sahaara van aur indiya teevee aur saath hee svaamee desh bhar mein aur videsho mein bhee bahot se yoga shibir bhee lete rahate hai.

2007 mein, kitt (kaling institutai of industrial taichhnology) vishvavidyaalay ne svaameejee ke vaidik vigyaanan mein mahatvapoorn yogadaan ke lie doktaret kee upaadhi se sammaanit kiya.

Patanjali Yogapeeth—
ye ek aisee sanstha hai jisakee sthaapana yoga aur aayurved par abhyaas aur shodh karane ke lie kee gayee hai. Bhaarat mein isake do kaimpas hai, patanjali yogapeeth-i & patanjali yogapeeth-ii, saath hee ye uk, us, nepaal, kanaada aur morishas mein bhee sthaapit hai.
raamadevajee ne 2006 mein patanjali yog peeth sanstha (uk) kee sthaapana kee thee, jisaka mukhy uddesh uk mein yoga ka prachaar –prasaar karana tha. isakee lie unhen vaha skotish jameen bhee pradaan kee gayee

1 2 3 4 5

Comments

comments