Monday , 18 September 2017
Latest Happenings
Home » Astrology » बस चले तो मैं सभी विचारवान व्यक्तियों को सफाई में लगा दूं

बस चले तो मैं सभी विचारवान व्यक्तियों को सफाई में लगा दूं

bus-go-to-me-all-thinking

bus-go-to-me-all-thinking

बस चले तो मैं सभी विचारवान व्यक्तियों को सफाई में लगा दूं

बस चले तो मैं सभी विचारवान व्यक्तियों को सफाई में लगा दूं

महात्मा गांधी की ख्याति न केवल भारत बल्कि संपूर्ण विश्व में है। वह जहां भी जाते थे लोग उनका बहुत स्वागत सत्कार करते थे और यही आलम भारत के विभिन्न शहरों और गांवो में भी था।
एक बार पत्रकारों की गोष्ठी में बापू राजनीतिक प्रसंगो पर उत्तर दे रहे थे। उसी समय हास्य-विनोद की मुद्रा में एक पत्रकार ने बापू से पूछा कि यदि आपको एक दिन के लिए भारत का डिक्टेटर बना दिया जाए, तो क्या करेंगे?
बापू थोड़ा रुके और फिर अपनी बात कहना शुरू की वह बोले कि- ‘ मैं सभी विचारशील व्यक्तियों और सरकारी कर्मचारियों को सफाई में जुटा दूंगा। सफाई ही सुव्यवस्था है। जब तक इसका महत्व न समझा जाएगा, तब तक किसी व्यक्ति या किसी देश की वास्तविक उन्नति होना असंभव है।’
उनका यह जवाब सुनकर पत्रकार वार्ता में मौजूद सभी लोग उनके विचारों से अभिभूत हो गए और बापू की प्रशंसा करने लगे।

In English

Mahatma Gandhi’s fame is not only in India but also in the whole world. The people used to visit him wherever he went, and he was also in different cities and villages of India.
Once upon a meeting of journalists, Bapu was answering political issues. At the same time, a journalist asked Bapu in the currency of humor and humor: “What will you do if you are made the dictator of India for a day?”
Bapu stopped a little and then started talking about his own saying, ‘I will mobilize all thoughtful people and government employees in cleanliness.’ Cleanliness is a good order. Unless it is deemed to be unimportant, it is impossible for a person or any country to have a real advancement.
Listening to this reply, all the people present in the press conference got overwhelmed by their ideas and praised Bapu.

 

Comments

comments