Thursday , 13 July 2017
Latest Happenings
Home » Gyan Ganga » Story Katha » विचार देते हैं हौसला, समझदारी और शक्ति

विचार देते हैं हौसला, समझदारी और शक्ति

gives-ideas-encouragement-understanding-and-power

gives-ideas-encouragement-understanding-and-power

विचार देते हैं हौसला, समझदारी और शक्ति

विचार देते हैं हौसला, समझदारी और शक्ति

दो तिनके एक नदी में गिर गए। दोनों एक ही हवा के झोंके से उड़कर एक ही साथ नदी तक आ पहुंचे थे। दोनों की परिस्थितियां समान थीं। परंतु दोनों की मानसिक स्थिति एक न थी। एक पानी में बह
रहा था सुख-पूर्वक। तैरने का आनंद लेते हुए, तो दूसरे को किनारे पर पहुंचने की जल्दी थी। वह बड़े प्रयास करता। पूरी ताकत लगाता, परंतु नदी के शक्तिशाली बहाव के आगे बेचारे तिनके की ताकत ही क्या थी। उसके सारे प्रयास व्यर्थ होते रहे। बहता तो वह उसी दिशा में रहा, जिस दिशा में
नदी बह रही थी, परंतु पहले तिनके की तरह सुखपूर्वक नहीं, बल्कि दुखी मन से। कुछ आगे जाने पर नदी की धारा धीमी हुई। पहला तिनका दूसरे से बोला- आओ मित्र, अब प्रयास करने के लिए समय अनुकूल है। चलो, मिलकर कोशिश करें। किनारे पर घास उगी है, जो नदी के बहाव को रोक भी रही है। थोड़ा प्रयास करने से
हम अपनी दुनिया में पहुंच जाएंगे। परंतु दूसरा तिनका इतनी मेहनत कर चुका था कि वह थक गया था। वह आगे प्रयास न कर सका। परंतु पहला तिनका अपने मित्र को मुसीबत में छोड़कर किनारे नहीं गया।
खुद को उससे उलझा दिया, जिससे तिनके की कुछ शक्ति बढ़ी। फिर जोर लगाया और एक लंबी घास को किसी तरह पकड़ लिया। कुछ देर सुस्ताने के बाद आखिरकार दोनों धीरे-धारे सूखे किनारे पर पहुंच ही गए।
पहला तिनका पुराने साथियों की मीठी यादों से खुश था। किनारे नए मित्रों के बीच प्रसन्न था। दूसरा तिनका अब भी अपने पुराने स्थान के साथी तिनकों से बिछड़ने के कारण उदास, डूबने की याद से परेशान और भीग जाने से दुखी था।

In English

Two straws fell into a river. The two had flown by the same wind and came to the river simultaneously. The conditions of both of them were the same. But the mental condition of both of them was not one. A water flowing
Had been happily While enjoying swimming, the other was quick to reach the shore. He makes great efforts. Taking full strength, but what was the strength of the stale straw in front of the river’s powerful drift? All his efforts remained in vain. It flows in the same direction, in which direction
The river was flowing, but not as pleasant as the first straw but rather sadly On going further, the stream of the river slowed down. The first one spoke to another- Come friend, now is the time favorable to try. Come on, try it together. Grass has grown on the shore, which has also stopped the flow of the river. By making a little effort
We will be in our world. But the second straw had worked so hard that it was tired. He could not make further efforts. But the first stitcher left his friend in trouble and did not go to the side.
Confused himself with it, causing some strength of the straw grew. Then put emphasis and caught a long grass in some way. After a while relaxing, the two finally reached the dry shore.
The first straw was happy with the sweet memories of old companions. The beach was pleased among new friends. The second straw is still sad due to the distraction of the companions of his old place, disturbed by the memory of drowning and dampness.

Comments

comments