Friday , 8 September 2017
Latest Happenings
Home » Gyan Ganga » Glossary » सखापन

सखापन

hardness

hardness

story of twp friends

         story of twp friends

शहर से दूर जंगल में एक पेड़ पर गोरैया का जोड़ा रहता था। उनके नाम थे, चीकू और चिनमिन। दोनो बहुत खुश रहते थे। सुबह सवेरे दोनो दाना चुगने के लिये निकल जाते। शाम होने पर अपने घोंसले मे लौट जाते। कुछ समय बाद चिनमिन ने अंडे दिये।

चीकू और चिनमिन की खुशी का ठिकाना नहीं रहा। दानों ही बड़ी बेसब्री से अपने बच्चों के अंडों से बाहर निकलने का इंतजार करने लगे। अब चिनमिन अंडों को सेती थी और चीकू अकेला ही दाना चुनने के लिये जाता था।

एक दिन एक हाथी धूप से बचने के लिये पेड़ के नीचे आ बैठा। मदमस्त हो कर वह अपनी सूँड़ से उस पेड़ को हिलाने लगा। हिलाने से पेड़ की वह डाली टूट गयी, जिस पर चीकू और चिनमिन का घोंसला था। इस तरह घोंसले में रखे अंडे टूट गये।

अपने टूटे अंडों को देख कर चिनमिन जोरों से रोने लगी। उसके रोने की आवाज सुन कर, चीकू और चिनमिन का दोस्त भोलू — उसके पास आये और रोने का कारण पूछने लगे।

चिनमिन से सारी बात सुनकर उन्हें बहुत दुख हुआ। फिर दोनो को धीरज बँधाते हुए भोलू — बोला, “अब रोने से क्या फायदा, जो होना था सो हो चुका।”

चीकू बोला, “भोलू भाई, बात तो तुम ठीक कर रहे हो, परंतु इस दुष्ट हाथी ने घमंड में आ कर हमारे बच्चों की जान ले ली है। इसको तो इसका दंड मिलना ही चाहिये। यदि तुम हमारे सच्चे दोस्त हो तो उसको मारने में हमारी मदद करो।”

यह सुनकर थोड़ी देर के लिये तो भोलू दुविधा में पड़ गया कि कहाँ हम छोटे छोटे पक्षी और कहाँ वह विशालकाय जानवर। परंतु फिर बोला, “चीकू दोस्त, तुम सच कह रहे हो। इस हाथी को सबक सिखाना ही होगा। अब तुम मेरी अक्ल का कमाल देखो। मैं अपनी दोस्त वीना मक्खी को बुला कर लाता हूँ। इस काम में वह हमारी मदद करेगी।” और इतना कह कर वह चला गया।

भोलू ने अपनी दोस्त वीना के पास पहुँच कर उसे सारी बात बता दी। फिर उसने उससे हाथी को मारने का उपाय पूछा। वीना बोली, “इससे पहले की हम कोई फैसला करे, अपने मित्र मेघनाद मेंढ़क की भी सलाह ले लूँ तो अच्छा रहेगा। वह बहुत अक्लमंद है। हाथी को मारने के लिये जरूर कोई आसान तरीका बता देगा।

चीकू, भोलू और वीना, तीनों मेघनाद मेंढ़क के पास गये। सारी बात सुन कर मेघनाद बोला, “मेरे दिमाग में उसे मारने की एक बहुत ही आसान तरकीब आयी है।

वीना बहन सबसे पहले दोपहर के समय तुम हाथी के पास जा कर मधूर स्वर में एक कान में गुंजन करना। उसे सुन कर वह आनंद से अपनी आँखे बंद कर लेगा। उसी समय भोलू अपनी तीखी चोंच से उसकी दोनो आँखें फोड़ देगा। इस प्रकार अंधा हो कर वह इधर-उधर भटकेगा।

थोड़ी देर बाद उसको प्यास लगेगी तब मैं खाई के पास जा कर अपने परिवार सहित जोर-जोर से टर्-टर् की आवाज करने लगूँगा। हाथी समझेगा की यह आवाज तालाब से आ रही है। वह आवाज की तरफ बढ़ते बढ़ते खाई के पास आयेगा और उसमें जा गिरेगा और खाई में पड़ा पड़ा ही मर जाएगा।

सबको मेघनाद की सलाह बहुत पसंद आयी। जैसा उसने कहा था, वीना और भोलू ने वैसा ही किया। इस तरह छोटे छोटे जीवों ने मिल कर अपनी अक्ल से हाथी जैसे बड़े जीव को मार गिराया और फिर से प्यार से रहने लगे।

Hindi to English

There was a pair of Goraya on a tree away from the city. His names were, Chiku and Chinmin. Both were very happy. In the morning, both of them left for chasing dana. If you go back to your nest in the evening After some time, Chinman gave the eggs.

Chiku and Chinmin have no place for happiness Danes started eagerly waiting to get out of their children’s eggs. Now the Chinmin used to cook eggs and the chiku alone went to choose the dana.

One day an elephant came under the tree to avoid sunlight. Having grown mad, he started moving the tree with his stomach. By moving, the cast of the tree was broken, which had a napkin of Chiku and Chinmin. In this way the eggs kept in the nest broke.

Seeing his broken eggs, Chinman started crying. By listening to his crying cry, Chukum and Chinmine’s friend Bholu – came to him and started asking for the reason of crying.

He was very sad to hear from Chinmin. Then, putting patience to both, Bholu – said, “Now what is the benefit of crying, whatever has to be done has happened.”

He said, “Bholu brother, you are doing fine, but this evil elephant has come in pride and has taken the life of our children, it should be punished. If you are our true friend, then kill him Help us. ”

After hearing this, Bholu fell into a dilemma for a while, where we were small birds and where the giant animals. But then you said, “Chaku mum, you are telling the truth, this elephant has to teach a lesson, now you look amazing in my reasoning.” I bring my friend Veena fly and will help us in this work. ” And by saying so much he went away.

Bholu approached his friend Veena and told him all the facts. Then he asked a remedy to kill the elephant. Veena quotes, “Before we make a decision, it will be good to consult my friend Meghnad Frogs too. She is very good.” There will definitely be some easy way to kill the elephant.

Cheiku, Bholu and Veena, all three meghnad went to frogs. “I have a very simple idea to kill him in my mind.

Veena Sister First of all, at the afternoon you go to the elephant and sing it in an elegant voice. Listening to him will close his eyes with joy. At the same time, Bholu will burst his eyes with his acute beak. In this way, he will go blind and roam around.

After a while, he will feel thirsty and I will go to the ditch and start crying loudly with his family. Elephant will understand that this voice is coming from the pond. He will come to the rising trench on the side of the voice and will fall in it and die in the ditch only.

Everyone liked the advice of Meghnad. As he said, Veena and Bholu did the same. In this way the small creatures killed their big creatures like elephants with their intelligence and then they started living in love again.

Comments

comments