Wednesday , 12 July 2017
Latest Happenings
Home » Gyan Ganga » Positive and Negative » ऐसा करेंगे तो असंभव केवल एक शब्द रह जाएगा

ऐसा करेंगे तो असंभव केवल एक शब्द रह जाएगा

if-so-then-only-one-word-will-be-impossible

if-so-then-only-one-word-will-be-impossible

ऐसा करेंगे तो असंभव केवल एक शब्द रह जाएगा

ऐसा करेंगे तो असंभव केवल एक शब्द रह जाएगा

ब्रिटेन में एक डॉक्टर थे ‘रॉजर बैनिस्टर’। उन्हें जब भी समय मिलता, तब वह दौड़ने का अभ्यास करने में जुट जाते। दिलचस्प बात यह थी कि उन दिनों तक कोई भी तेज धावक एक मील की दौड़ चार मिनट से कम में पूरी नहीं कर पाया था। यह बात जब रॉजर ने अपने दोस्त से सुनी तो उन्होंने कहा, लेकिन कोशिश करते रहने से यह सब कुछ संभव है।

 जब यह बात चली तो वहां एक अन्य डॉक्टर भी मौजूद थे वह बोले, मि. रॉजर इंसान के फेफड़ों में इतनी शक्ति नहीं है कि वह बहुत तेजी से दौड़ सके। तब रॉजर ने कहा, मैं एक मील की दौड़ चार मिनट से कम में पूरी करके दिखाऊंगा, बस आप मुझे कुछ समय दीजिए।’
इसके बाद फिर रॉजर और डॉ. दोनों ही इस बात का बेसब्री से इंतजार करने लगे कि देखें किसकी बात सच साबित होती है। रॉजर ने दिन-रात अभ्यास करना शुरू कर दिया।
और वह दिन आ ही गया जब रॉजर को अपने कहे वाक्यों को सही साबित करना था। इतिहास रचने में कुछ समय ही बाकी था। दौड़ शुरू हुई। रॉजर ने एक मील की दौड़ 3 मिनट 59.4 सेकंड में पूरी कर डाली।
रॉजर के विरोधी उनकी तरफ हिकारत भरी नजरों से देख रहे थे, तो उनके प्रशंसक रॉजर को गले लगाने के लिए बेताब थे। रॉजर ने ऐसा कारनामा कर दिखाया था।
 जिसके बारे में लोग सोच भी नहीं सकते थे। यह सब कुछ रॉजर के नियमित अभ्यास और सच्ची लगन के जरिए ही संभव हुआ।

Hindi to English

There was a doctor in Britain ‘Roger Bannister’ Whenever they get the time, then they get involved in the practice of running. The interesting thing was that till those days no fast runner was able to complete a mile race in less than four minutes. This thing when Roger heard from his friend, he said, but by trying, all this is possible.

When this thing happened, there was another doctor there too, he said, Mr. Roger does not have enough power in the human lungs that he can run very fast. Then Roger said, “I’ll finish a mile race in less than four minutes, just give me some time.”

After this, both Roger and Dr. were eagerly waiting for the fact that their point of view proved true. Roger started practicing day and night.

And that day came when Roger had to prove his sentences correctly. There was some time left to create history. The race started. Roger completed a mile race in 3 minutes 59.4 seconds.

Roger’s opponents were watching him with a hilarious sight, so his fans were desperate to embrace Roger. Roger did such a thing.
People could not think about it. All this was possible only through Roger’s regular practice and true passion.

Comments

comments