Tuesday , 7 February 2017
Latest Happenings
Home » Uncategorized » Kabirdash

Kabirdash

kabirdash

kabirdash

                                

kabirdash

                                                                Kabirdash

         Introduction          Life        Work     Achivements      Media             Publication    

Introduction of Kabirdash

कबीर हिंदी साहित्य के महिमामण्डित व्यक्तित्व हैं। कबीर के जन्म के संबंध में अनेक किंवदन्तियाँ हैं। कुछ लोगों के अनुसार वे रामानन्द स्वामी के आशीर्वाद से काशी की एक विधवा ब्राह्मणी के गर्भ से पैदा हुए थे, जिसको भूल से रामानंद जी ने पुत्रवती होने का आशीर्वाद दे दिया था। ब्राह्मणी उस नवजात शिशु को लहरतारा ताल के पास फेंक आयी।

कबीर के माता- पिता के विषय में एक राय निश्चित नहीं है कि कबीर “नीमा’ और “नीरु’ की वास्तविक संतान थे या नीमा और नीरु ने केवल इनका पालन- पोषण ही किया था। कहा जाता है कि नीरु जुलाहे को यह बच्चा लहरतारा ताल पर पड़ा पाया, जिसे वह अपने घर ले आया और उसका पालन-पोषण किया। बाद में यही बालक कबीर कहलाया।

Wish4me In English 

Kabeer hindee saahity ke mahimaamandit vyaktitv hain. kabeer ke janm ke sambandh mein anek kinvadantiyaan hain. kuchh logon ke anusaar ve raamaanand svaamee ke aasheervaad se kaashee kee ek vidhava braahmanee ke garbh se paida hue the, jisako bhool se raamaanand jee ne putravatee hone ka aasheervaad de diya tha. braahmanee us navajaat shishu ko laharataara taal ke paas phenk aayee.

Kabeer ke maata- pita ke vishay mein ek raay nishchit nahin hai ki kabeer “neema aur “neeru kee vaastavik santaan the ya neema aur neeru ne keval inaka paalan- poshan hee kiya tha. kaha jaata hai ki neeru julaahe ko yah bachcha laharataara taal par pada paaya, jise vah apane ghar le aaya aur usaka paalan-poshan kiya. baad mein yahee baalak kabeer kahalaaya.

For more details about Kabir dash visit the more links….

1 2 3 4 5 6

 

Comments

comments