Saturday , 11 February 2017
Latest Happenings
Home » Gyan Ganga » Bhajan/Aarti / Mantra/ Chalisa Lyrics » मेरे मन में है राम मेरे तन में है राम

मेरे मन में है राम मेरे तन में है राम

mere-man-main-hai-raam-tere-manmain-hain-raam

mere-man-main-hai-raam-tere-manmain-hain-raam

Mere Man Main hai Raam tere ManMain Hain Raam Story
मेरे मन में है राम, मेरे तन में है राम ।
मेरे नैनो की नगरिया में राम है ॥

मेरे रोम रोम के है राम ही रमिया,
साँसों के स्वामी, मेरी नैया के खिवैया।
कण कण में हैं राम, त्रिभुवन में हैं राम,
नीले नभ की अटरिया में राम है॥

जनम जनम का जिन से है नाता,
मन जिन के पल छीन गुण गाता।
गुण धुन में है राम, रन झुन में है राम,
सारे जग की डगरिया में राम है॥

जहाँ कहीं देखूं वहीं राम की है माया,
सब ही के साथ श्री राम जी की छाया ।
सुमिरन में है राम, दर्शन में है राम,
मेरे मन की मुरलिया में राम है॥


mere man mein hai raam, mere tan mein hai raam.
mere naino kee nagariya mein raam hai.

mere rom rom ke hai raam hee ramiya,
saanson ke svaamee, meree naiya ke khivaiya.
kan kan mein hain raam, tribhuvan mein hain raam,
neele nabh kee atariya mein raam hai.

janam janam ka jin se hai naata,
man jin ke pal chheen gun gaata.
gun dhun mein hai raam, ran jhun mein hai raam,
saare jag kee dagariya mein raam hai.

jahaan kaheen dekhoon vaheen raam kee hai maaya,
sab hee ke saath shree raam jee kee chhaaya.

Comments

comments