Saturday , 24 February 2018
Latest Happenings
Home » Acurpressure » पुरानी पेंटिंग

पुरानी पेंटिंग

old-painting-%F0%9F%92%A1-%F0%9F%92%A1

old-painting-%F0%9F%92%A1-%F0%9F%92%A1

बहुत समय पहले की बात है ,उन्नीसवीं सदी के मशहूर पेंटर दांते गेब्रियल रोजेटी के पास एक अधेड़ उम्र का व्यक्ति पहुंचा. उसके पास कुछ स्केच और  ड्राइंगस  थीं जो वो रोजेटी को दिखा कर उनकी राय जानना चाहता था की वे अच्छी हैं , या कम से कम उन्हें देखकर कलाकार में कुछ टैलेंट जान पड़ता है .

रोजेटी ने ध्यान से उन  ड्राइंगस को देखा . वह जल्द ही समझा गए कि वे किसी काम की नहीं हैं , और उसे बनाने वाले के नहीं के बराबर आर्टिस्टिक टैलेंट है . वे उसे व्यक्ति को दुखी नहीं करना चाहते थे पर साथ ही वो झूठ भी नहीं बोल सकते थे इसलिए उन्होंने बड़ी सज्जनता से उससे  कह दिया कि इन ड्राइंगस में कोई खास बात नहीं है. उनकी बात  सुनकर व्यक्ति थोडा निराश हुआ , लेकिन शायद वो पहले से ही ऎसी उम्मीद कर रहा था.

उसने रोजेटी से उनका समय लेने के लिए माफ़ी मांगी , और अनुरोध किया कि यदि संभव हो तो वे एक यंग आर्ट स्टूडेंट के द्वारा बनायीं कुछ पुरानी पेंटिंगस भी देख लें. रोजेटी तुरंत तैयार हो गये, और एक पुरानी फ़ाइल में लगी कृतियाँ देखने लगे .

उन्होंने अपनी ख़ुशी जाहिर करते हुए कहा , ” वाह, ये पेंटिंगस तो बड़ी अच्छी हैं , इस नौजावान में बहुत टैलेंट है , उसे हर तरह का प्रोत्साहन दीजिये, यदि वह इस काम लगा रहता है और जी तोड़ मेहनत करता है तो कोई शक नहीं कि एक दिन वो माहन पेंटर बनेगा.”

रोजेटी की बात सुनकर उस व्यक्ति की आँखें भर आयीं .

” कौन है यह नौजवान ?” , रोजेटी ने पूछा , “तुम्हारा बेटा ?”

“नहीं”, ” ये मैं ही हूँ- तीस  साल पहले का मैं !!! काश उस समय किसी ने आपकी तरह प्रोत्साहित किया होता तो आज मैं पछताने की जगह एक खुशहाल ज़िन्दगी जी रहा होता.”

Friends , encouragement एक ऐसी चीज है जो हमारे अन्दर का बेस्ट बाहर लेकर आती है , हमें और भी अच्छा करने के लिए मोटीवेट करती है. AKC को ही ले लें, तो अगर मैं अब तक हज़ारों लोगों से मिले हज़ारों कमेंट्स को minus कर दूँ तो शायद ये साईट आज जितनी है उसकी आधी भी नहीं होती !

और लोग क्या करते हैं इस पर हम control नहीं कर सकते पर हम ये निश्चय कर सकते हैं कि जब कभी हमें किसी को genuinely encourage करने का मौका मिले हम उसे ज़रूर encourage करें .

Hindi to English

It is a long time ago, a middle-aged man approached the nineteenth century famous painter Dante Gabriel Rosetti. He had some sketches and drawings that he wanted to know about his opinion by showing Rosetti that he is good, or at least he sees some talent in the artist.

Rosetti carefully looked at those drawings. They were soon understood that they are not of any use, and the artist who has the same artistic talent is not equal to him. They did not want to hurt him, but he could not even lie, so he told him with great gentleness that there is no special thing in these drawings. The person was a little disappointed by hearing about him, but perhaps he was already expecting it.

He apologized for taking his time with Rosetti, and requested that if possible, they should also see some old paintings made by a young art student. Rosette immediately got ready, and started looking at the works in an old file.

He expressed his happiness and said, “Wow, these paintings are very good, this young man has a lot of talent, give him all kind of encouragement, if he is engaged in this work and he is working hard, then there is no doubt that One day she will become a mahan painter. ”

The person’s eyes were filled with the words of Rosetti.

“Who is this young man?”, Rosetti asked, “Your son?”

“No”, “This is me – Thirty years ago I !!! If someone had encouraged you at that time then today I would have been living a happy life instead of repenting. ”

Friends, encouragement is such a thing that brings the best out of us, we are motivating to do even better. Take AKC only, if I minus thousands of comments from thousands of people so far, then maybe this site is not half as much as it is today!

And we can not control what people do, but we can decide that whenever we get an opportunity to genuinely encourage someone we must definitely encourage them.

Comments

comments