Wednesday , 17 January 2018
Latest Happenings
Home » Gyan Ganga » Story Katha » ऐसे मिलेगा खुशहाली का रास्ता

ऐसे मिलेगा खुशहाली का रास्ता

such-a-path-of-prosperity-will-be-found

such-a-path-of-prosperity-will-be-found

एक बार हकीम लुकमान से उनके बेटे ने पूछा, अगर मालिक ने फरमाया कि कोई चीज मांग, तो मैं क्या मांगूं? लुकमान ने जवाब दिया, ‘परमार्थ का धन’। बेटे ने फिर कहा, दूसरी चीज मांगनी हो तो?

लुकमान ने कहा, हलाल की कौड़ी(पसीने की कमाई) मांगना। बेटे ने फिर पूछा, तीसरी चीज? जवाब मिला, ‘उदारता’। चौथी चीज, ‘शर्म’ पांचवी चीज ‘अच्छा स्वभाव’।

बेटे ने फिर पूछा, और कुछ मांगने के लिए कहें तो? लुकमान ने उत्तर दिया, बेटा जिसको ये पांच चीजें यानी परमार्थ का धन, कौड़ी, उदारता, शर्म और अच्छा स्वभाव मिल गया हो।

उसके लिए मांगने के लिए क्या बचता है। यही खुशहाली का रास्ता है। और इस रास्ते पर जाकर दुनिया का हर व्यक्ति खुशी से अपनी जिंदगी गुजार सकता है।

Hindi to English

Once Hakim Lukman asked his son, if the owner asked that if something is demanding, then what should I ask? Lukman responded, ‘Money of Paramartha’. Son said again, if you have to demand something else?

Lukman said, demanding halal ka kaudi (earn money for sweat). The son asked again, the third thing? The answer came, ‘generosity’. The fourth thing, ‘shame’ is the fifth thing ‘good nature’.

The son asked again, and asked for something to ask? Lukman replied, Son, which has got the wealth of these five things i.e. the God of Paramartha, money, generosity, shame and good nature.

What remains to ask for it. That’s the way to prosperity. And by going this way everyone in the world can happily spend their life.

Comments

comments