Friday , 8 September 2017
Latest Happenings
Home » Gyan Ki Baat » ऐसे की जाती है स्वयं की ब्रांडिंग

ऐसे की जाती है स्वयं की ब्रांडिंग

such-is-the-branding-of-its-own

such-is-the-branding-of-its-own

such-is-the-branding-of-its-own

हकीम लुकमान ने एक दिन अपने बेटे को पास बुला कर धूपदान की ओर इशारा किया। इशारे को समझ बेटा धूपदान में से एक मुट्ठी चंदन और फिर लुकमान ने दूसरा इशारा किया। इशारा समझ बेटा दूसरे हाथ में चूल्हे में से कोयला ले आया।

लुकमान ने फिर इशारा किया कि दोनों को फेंक दो। बेटे ने दोनो को फेंक दिया। लुकमान ने बेटे से जानना चाहा कि अब उसके हाथों में क्या है? बेटे ने बताया कि दोनों हाथ खाली हैं। लुकमान ने कहा, ऐसा नहीं है। अपने हाथों को गौर से देखो। बेटे ने अनुभव किया कि जिस हाथ में चंदन का चूरा था, वह अब भी खुशबू बिखेर रहा है और जिस हाथ में कोयला रखा था, उसमें अब भी कालिख नजर आ रही थी।

लुकमान ने कहा, बेटा, चंदन का चूरा अब भी तुम्हारे हाथ में खुशबू दे रहा है, जबकि तुम्हारे हाथ में अब चंदन नहीं है। कोयले का टुकड़ा तुमने हाथ में लिया तो तुम्हारा हाथ काला हो गया और उसे फेंक देने के बाद भी हाथ काला है।

इसी तरह दुनिया में कुछ लोग चंदन की तरह होते हैं, जिनके साथ जब तक रहो तब तक हमारा जीवन महकता रहता है और उनका साथ छूट जाने पर भी वह महक हमारे जीवन से जुड़ी रहती है। दूसरे ऐसे होते हैं जिनके साथ रहने से भी और साथ छूटने पर भी जीवन कोयले की तरह काला हो जाता है।

यदि आप दक्ष और प्रतिष्ठित लोगों से जुड़े हैं, तो आपको यह बताने में गर्व महसूस होता होगा कि मैं फलां व्यक्ति के साथ काम कर रहा हूं।सामने वाले पर भी इसका सकारात्मक असर पड़ता है। दूसरी ओर कम प्रतिष्ठित लोगों के साथ काम करने पर आपकी छवि भी वैसी ही बन जाती है, भले ही आप बहुत प्रतिभाशाली हों।

In English

Hakim Lukman called his son one day and pointed towards the pans. Understand the gesture Sonata pans a handful of sandalwood and then Lukman made another point. Understanding the gesture son brought the coal from the stove in the other hand.

Lukman again pointed out that throw both of them. The son threw the two. Lukman wanted to know from the son that what is in his hands now? The son said that both hands are empty. Lukman said, it is not so. Look at your hands carefully. The son felt that the hand in which the sandalwood slit was, the fragrance was still scattering and the hand in which the coal was kept was still visible in it.

Lukman said, son, the sandalwood slurry is still smelling in your hand, while you do not have sandalwood in your hand. If you take the piece of coal in your hand, then your hand turns black and after throwing it the hand is black.

Likewise, some people in the world are like sandalwood, with whom we live, our life remains intensely, and even if we get rid of them, the smell remains attached to our lives. Others are like those with whom living with them and even if you get away with them, life becomes black like coal.

If you are involved with the distinguished and dignified people, you would feel proud to tell me that I am working with a person who has a positive effect on the person. On the other hand, working with less eminent people becomes your image, even if you are very talented.

Comments

comments