Wednesday , 20 September 2017
Latest Happenings
Home » Tag Archives: devotees

Tag Archives: devotees

ब्राह्मण के आंसुओं में बह गया अर्जुन का अभिमान

arjunas-pride-swept-away-in-brahmin-tears

एक दिन श्रीकृष्ण अर्जुन को अपने साथ घुमाने ले गए। रास्ते में उनकी भेंट एक निर्धन ब्राह्मण से हुई। उसका व्यवहार थोड़ा विचित्र था। वह सूखी घास खा रहा था और उसकी कमर से तलवार लटक रही थी। अर्जुन ने उससे पूछा- ‘आप तो अहिंसा के पुजारी हैं। जीव हिंसा के भय से सूखी घास खाकर अपना गुजारा करते हैं। ... Read More »

नवरात्रि 2017: 21 सितंबर से शुरू हो रहा है पर्व, नौ दिनों तक इन 9 चीजों से करें मां की पूजा

Navaratri 2017: Feast is starting from 21st of September, do 9 days of these 9 things to worship the mother

शारदीय नवरात्रि इस बार 21 सितंबर से शुरु हो रही है। नवरात्रि के नौ दिनों में प्रत्येक दिन मां दुर्गा के अलग-अलग रूपों की पूजा-अर्चना की जाती है। नवरात्रि के आते ही घर-घर में मां के आगमन की तैयारियां भी शुरू हो गई हैं। गुरुवार से शुरू होने वाली नवरात्रि के नौ दिनों में यदि नौ विशेष चीजों का इस्तेमाल ... Read More »

लोभी मनुष्य को स्वयं की तरह ही दिखाई देते हैं दूसरे लोग

greedy-people

बाबा अनंतराम हर समय लोगों की सेवा में जुटे रहते थे। उनके लाख मना करने पर भी लोग उन्हें खूब चढ़ावा चढ़ाया करते थे। बाबा उसे गरीबों में बांट देते थे। एक दिन एक सेठ ढेर सारे हीरे-मोती उनके चरणों में रखते हुए बोला- बाबा, मेरी ओर से यह भेंट स्वीकार करें। बाबा ने हीरे-मोतियों की ओर देखा तक नहीं ... Read More »

नम्र बनो कठोर नहीं

नम्र बनो कठोर नहीं

एक चीनी संत थे। वह बहुत वृद्ध थे। उन्होंने देखा कि अंत समय निकट आ गया है, तो अपने सभी भक्तों और शिष्यों को अपने पास बुलाया। वह सभी से बोले, थोड़ा मेरे मुंह के अंदर तो देखो भाई? मेरे कितने दांत शेष हैं। प्रत्येक शिष्य ने मुंह के भीतर देखा और प्रत्येक ने कहा कि दांत तो कई वर्षों ... Read More »

Bhakti Charu Swami Achievements

Life     Work    Media     Publication His Holiness Bhakti Charu Swami is a spiritual master and a GBC in the International Society for Krsna Consciousness (ISKCON). He is a disciple of His Divine Grace AC Bhaktivedanta Swami Prabhupada, the founder – Acharya of ISKCON and is regarded as one the most advanced devotee’s in the movement today. His Holiness hails from ... Read More »

Nityanand Bhagawan Achievements

Life     Work    Media     Publication As a guru, Nityananda gave relatively little by way of verbal teachings. Starting in the early 1920s, his devotees in Mangalore would sit with him in the evenings. Most of the time he was silent, though occasionally he would give teachings. A devotee named Tulsiamma wrote down some of his teachings and his answers ... Read More »

भक्तो के प्यारे दुनिया के सहारे

bhakton ke pyaare duniya ke sahaare

भक्तो के प्यारे, दुनिया के सहारे, जो सब के काम सवारे, दुखियो के कष्ट निवारे, वो साईं नाथ है, हर जगह मेरे साथ है | पत्थर जो छू ले बाबा, सोना कर देते हैं | रोगीओ के रोग सारे, आप हर लेते हैं || जो डूब रहा है मझदारे, वो मुख से साईं पुकारे, उसे आप लगते पार हैं, वो ... Read More »

छम छम नाचे वीर हनुमान

दोहा : भकत बड़े बलवान तुम्ही हो, सालासर हनुमान तुम्ही हो । आया हूँ मैं दर पे, तुझको आज पुकारा । पावो में घुंघरू बाँध के नाचे, मेरा बजरंग प्यारा ॥ छम छम नाचे देखो वीर हनुमना । कहेते है लोग इसे राम का दीवाना ॥ पाँवो मे घुंगूरू बाँध के नाचे , रामजी का नाम इन्हे बड़ा प्यारा लागे ... Read More »

हे अंजनी पुत्र हे मारुती इतनी बिनती सवीकार करो

हे अंजनी पुत्र हे मारुती इतनी बिनती सवीकार करो । इस मन मंदिर में बस जाओ मुझ निर्बल का उद्दार करो ॥ मैंने तो सुना है हे हनुमंत तुम दुखियों के दुःख हर्ता हो, आ जाए कोई जो तुम्हारी शरण बन जाते तुम सुख करता हो । दुःख के इस जीवन सागर से मेरी नैया भी पार करो, हे अंजनी ... Read More »

आओ बालाजी आओ आज माहरे आँगने

आओ बालाजी आओ आज माहरे आँगने भगत बुलावे थाने आयां सरसी लाल लगोटों हाथ में घोटो सर पर छतर हजारी जी लाल ध्वजा थारे मंड पर सोहे घृत सिन्दूर छुवाव जी ओ बाबा घृत सिन्दूर छुवाव जी लाखों नर नारी आवे आवे थारे बारणे सबका कष्ट मिटायां सरसी आओ बालाजी आओ आज माहरे आँगने अंजनी माँ का पुत्र हो प्यारा ... Read More »