Tuesday , 7 February 2017
Latest Happenings
Home » Gyan Ganga » Story Katha » सबसे कीमती चीज़ (The most precious thing)

सबसे कीमती चीज़ (The most precious thing)

the-most-precious-thing

the-most-precious-thing

The most precious thing

The most precious thing

एक जाने-माने स्पीकर ने हाथ में पांच सौ का नोट लहराते हुए अपनी सेमीनार शुरू की. हाल में बैठे सैकड़ों लोगों से उसने पूछा ,” ये पांच सौ का नोट कौन लेना चाहता है?” हाथ उठना शुरू हो गए.

फिर उसने कहा ,” मैं इस नोट को आपमें से किसी एक को दूंगा पर  उससे पहले मुझे ये कर लेने दीजिये .” और उसने नोट को अपनी मुट्ठी में चिमोड़ना शुरू कर दिया. और  फिर उसने पूछा,” कौन है जो अब भी यह नोट लेना चाहता है?” अभी भी लोगों के हाथ उठने शुरू हो गए.

“अच्छा” उसने कहा,” अगर मैं ये कर दूं ? ” और उसने नोट को नीचे गिराकर पैरों से कुचलना शुरू कर दिया. उसने नोट उठाई , वह बिल्कुल चिमुड़ी और गन्दी हो गयी थी.

” क्या अभी भी कोई है जो इसे लेना चाहता है?”. और एक  बार  फिर हाथ उठने शुरू हो गए.

” दोस्तों  , आप लोगों ने आज एक बहुत महत्त्वपूर्ण पाठ सीखा है. मैंने इस नोट के साथ इतना कुछ किया पर फिर भी आप इसे लेना चाहते थे क्योंकि ये सब होने के बावजूद नोट की कीमत घटी नहीं,उसका मूल्य अभी भी 500 था.

जीवन में कई बार हम गिरते हैं, हारते हैं, हमारे लिए हुए निर्णय हमें मिटटी में मिला देते हैं. हमें ऐसा लगने लगता है कि हमारी कोई कीमत नहीं है. लेकिन आपके साथ चाहे जो हुआ हो या भविष्य में जो हो जाए , आपका मूल्य कम नहीं होता. आप स्पेशल हैं, इस बात को कभी मत भूलिए.

कभी भी बीते हुए कल की निराशा को आने वाले कल के सपनो को बर्बाद मत करने दीजिये. याद रखिये आपके पास जो सबसे कीमती चीज है, वो है आपका जीवन.”

wish4me TO English

ek jaane-maane speekar ne haath mein paanch sau ka not laharaate hue apanee semeenaar shuroo kee. haal mein baithe saikadon logon se usane poochha ,” ye paanch sau ka not kaun lena chaahata hai?” haath uthana shuroo ho gae.

phir usane kaha ,” main is not ko aapamen se kisee ek ko doonga par usase pahale mujhe ye kar lene deejiye .” aur usane not ko apanee mutthee mein chimodana shuroo kar diya. aur phir usane poochha,” kaun hai jo ab bhee yah not lena chaahata hai?” abhee bhee logon ke haath uthane shuroo ho gae.

“achchha” usane kaha,” agar main ye kar doon ? ” aur usane not ko neeche giraakar pairon se kuchalana shuroo kar diya. usane not uthaee , vah bilkul chimudee aur gandee ho gayee thee.

” kya abhee bhee koee hai jo ise lena chaahata hai?”. aur ek baar phir haath uthane shuroo ho gae.

” doston , aap logon ne aaj ek bahut mahattvapoorn paath seekha hai. mainne is not ke saath itana kuchh kiya par phir bhee aap ise lena chaahate the kyonki ye sab hone ke baavajood not kee keemat ghatee nahin,usaka mooly abhee bhee 500 tha.

jeevan mein kaee baar ham girate hain, haarate hain, hamaare lie hue nirnay hamen mitatee mein mila dete hain. hamen aisa lagane lagata hai ki hamaaree koee keemat nahin hai. lekin aapake saath chaahe jo hua ho ya bhavishy mein jo ho jae , aapaka mooly kam nahin hota. aap speshal hain, is baat ko kabhee mat bhoolie.

kabhee bhee beete hue kal kee niraasha ko aane vaale kal ke sapano ko barbaad mat karane deejiye. yaad rakhiye aapake paas jo sabase keematee cheej hai, vo hai aapaka jeevan.”

 

Comments

comments