Wednesday , 12 July 2017
Latest Happenings
Home » Education » एक बॉस की कहानी लेकिन उसने क्यों कहा, ‘कल उत्तर दूंगा’

एक बॉस की कहानी लेकिन उसने क्यों कहा, ‘कल उत्तर दूंगा’

the-story-of-a-boss-but-why-did-he-say-tomorrow-will-answer

the-story-of-a-boss-but-why-did-he-say-tomorrow-will-answer

Go4wallpapers.com

एक कंपनी का बॉस यात्रा के दौरान गांव से गुजरा । कुछ लोगों ने उन्हें अपशब्द कहने के साथ अभद्र व्यवहार करना शुरु कर दिया। इस पर बॉस ने कहा, मैं कल आकर उत्तर दूंगा।

लोग बहुत हैरान हुए। फकीर से उन्‍होंने कहा, ‘हमने तुम्हारा अपमान किया है, तुम्हारे बारे में अभद्र बातें कहीं । तुम हमसे झगड़ने की बजाए कल आकर उत्तर देने की बात कर रहे हो।’

बॉस ने कहा, ‘पहले मैं घर जाकर सोचूंगा कि तुम लोगों ने जो अपमान किया है, कहीं वह ठीक तो नहीं। हो सकता है, तुम लोगों ने जो बुराइयां मुझमें बताई हैं, वे सचमुच मुझमें हों। इसीलिए पहले मैं जांच करूंगा। फिर कल आकर उत्तर दूंगा। इसमें झगड़ा कैसा?’

बॉस की महानता गांव के लोगों को अब समझ में आ गई। अपने व्यवहार से लज्जित वे सभी फकीर के पैरों में गिर पड़े।

Hindi to English

A company’s boss passed through the village during the trip. Some people started to behave indecently with their abuse. On this Boss said, I will answer tomorrow and answer.

People are very surprised They said to the fakir, ‘We have insulted you, you have nothing to say about untrue things. You are talking about coming tomorrow rather than quarreling with us.

Boss said, ‘first I will go home and think that the people you insulted, somehow it is not right Maybe, the bad things you told me in me are really in me. That’s why I will check first. Then come tomorrow and answer. What’s the fight in this? ‘

The people of the village are now able to understand the greatness of the boss. Those who are ashamed of their behavior fall into the feet of the mystic.

Comments

comments