Wednesday , 20 September 2017
Latest Happenings
Home » Alexander the Great » हमेशा खुश रहने का राज़ क्या है

हमेशा खुश रहने का राज़ क्या है

what-is-the-secret-to-always-be-happy

what-is-the-secret-to-always-be-happy

what-is-the-secret-to-always-be-happy

एक समय की बात है, एक गाँव में महान ऋषि रहते थे| लोग उनके पास अपनी कठिनाईयां लेकर आते थे और ऋषि उनका मार्गदर्शन करते थे| एक दिन एक व्यक्ति, ऋषि के पास आया और ऋषि से एक प्रश्न पूछा| उसने ऋषि से पूछा कि “गुरुदेव मैं यह जानना चाहता हुईं कि हमेशा खुश रहने का राज़ क्या है (What is the Secret of Happiness)?” ऋषि ने उससे कहा कि तुम मेरे साथ जंगल में चलो, मैं तुम्हे खुश रहने का राज़ (Secret of Happiness) बताता हूँ|
ऐसा कहकर ऋषि और वह व्यक्ति जंगल की तरफ चलने लगे| रास्ते में ऋषि ने एक बड़ा सा पत्थर उठाया और उस व्यक्ति को कह दिया कि इसे पकड़ो और चलो| उस व्यक्ति ने पत्थर को उठाया और वह ऋषि के साथ साथ जंगल की तरफ चलने लगा|
कुछ समय बाद उस व्यक्ति के हाथ में दर्द होने लगा लेकिन वह चुप रहा और चलता रहा| लेकिन जब चलते हुए बहुत समय बीत गया और उस व्यक्ति से दर्द सहा नहीं गया तो उसने ऋषि से कहा कि उसे दर्द हो रहा है| तो ऋषि ने कहा कि इस पत्थर को नीचे रख दो| पत्थर को नीचे रखने पर उस व्यक्ति को बड़ी राहत महसूस हुयी|
तभी ऋषि ने कहा – “यही है खुश रहने का राज़ (Secret of Happiness)”| व्यक्ति ने कहा – गुरुवर मैं समझा नहीं|
तो ऋषि ने कहा
जिस तरह इस पत्थर को एक मिनट तक हाथ में रखने पर थोडा सा दर्द होता है और अगर इसे एक घंटे तक हाथ में रखें तो थोडा ज्यादा दर्द होता है और अगर इसे और ज्यादा समय तक उठाये रखेंगे तो दर्द बढ़ता जायेगा उसी तरह दुखों के बोझ को जितने ज्यादा समय तक उठाये रखेंगे उतने ही ज्यादा हम दु:खी और निराश रहेंगे| यह हम पर निर्भर करता है कि हम दुखों के बोझ को एक मिनट तक उठाये रखते है या उसे जिंदगी भर| अगर तुम खुश रहना चाहते हो तो दु:ख रुपी पत्थर को जल्दी से जल्दी नीचे रखना सीख लो और हो सके तो उसे उठाओ ही नहीं

Translate Into Hindi To English

It is a matter of time, great sages lived in a village. People brought their problems with them and the sage used to guide them. One day a person came to the sage and asked a question from the sage. He asked the sage, “Gurudev, I wanted to know what is the secret to always be happy?” Rishi told him that you should go with me in the jungle, I will be happy to have you of Happiness).
By saying this, the sage and the person started walking towards the forest. On the way, the sage picked up a big stone and told the person to grab it and walk. The person picked up the stone and along with the sage started walking towards the forest.
After some time the pain started in the hands of that person, but he kept quiet and continued. But when a lot of time passed and he did not suffer from the pain, he told the sage that he is suffering. So the sage said that put this stone down. The person felt great relief when he kept the stone down.
Only then the sage said – “This is the secret of Happiness”. The person said – Guruvar I did not understand.
So the sage said
The way it takes a little bit of painting on this stone for a minute, and if you put it in one hand for hours, then it hurts a lot and if you keep it on longer, the pain will increase, in the same way the burden of suffering The longer we hold them, the more we will be sad and frustrated. It depends on us whether we keep the burden of suffering for one minute or it is life filled. If you want to be happy, then learn to put the painful stone down quickly and do not pick it if possible.

Comments

comments