Wednesday , 8 February 2017
Latest Happenings
Home » Uncategorized » Kabir Publication

Kabir Publication

kabirpublication

kabirpublication

Publication  

कबीर की साखियां बहुत लोकप्रिय हैं। यह पृष्ठ कबीर का साखी संग्रह है।

साखी रचना की परंपरा का प्रारंभ गुरु गोरखनाथ तथा नामदेव के समय हुआ था। गोरखनाथ की जोगेश्वरी साखीकाव्यरूप में उपलब्ध सबसे पहली ‘साखी रचना मानी जाती है।

कबीर ने नीति, व्यवहार, एकता, समता, ज्ञान और वैराग्य आदि समझाने के लिए ‘साखी’ का प्रयोग किया है। कबीर की साखियों में दोहा छंद का प्रयोग सर्वाधिक किया गया है।  कबीर की साखियों पर गोरखनाथ और नामदेव की साखी का प्रभाव दिखाई देता है।

कबीर ने गोरखनाथ की तरह अपनी सखियों में दोहा जैसे छोटे छंदों में अपने उपदेश दिए हैं।

Wish4me In English

kabeer kee saakhiyaan bahut lokapriy hain. yah prshth kabeer ka saakhee sangrah hai.

saakhee rachana kee parampara ka praarambh guru gorakhanaath tatha naamadev ke samay hua tha. gorakhanaath kee jogeshvaree saakheekaavyaroop mein upalabdh sabase pahalee saakhee rachana maanee jaatee hai.

kabeer ne neeti, vyavahaar, ekata, samata, gyaan aur vairaagy aadi samajhaane ke lie saakhee ka prayog kiya hai. kabeer kee saakhiyon mein doha chhand ka prayog sarvaadhik kiya gaya hai. kabeer kee saakhiyon par gorakhanaath aur naamadev kee saakhee ka prabhaav dikhaee deta hai.

kabeer ne gorakhanaath kee tarah apanee sakhiyon mein doha jaise chhote chhandon mein apane upadesh die hain.

For more details about Kabir Dash visit the more links….

1 2 3 4 5 6

 

Comments

comments