Thursday , 9 February 2017
Latest Happenings
Home » Gyan Ganga » God Leela » माँ :ईश्वर का भेजा फ़रिश्ता (Mother is the messenger of god)

माँ :ईश्वर का भेजा फ़रिश्ता (Mother is the messenger of god)

mother-is-the-messenger-of-god

mother-is-the-messenger-of-god

Mother is the Messenger of God

Mother is the Messenger of God

एक समय की बात है, एक बच्चे का जन्म होने वाला था. जन्म से कुछ क्षण पहले उसने भगवान् से पूछा : ” मैं इतना छोटा हूँ, खुद से कुछ कर भी नहीं पाता, भला धरती पर मैं कैसे रहूँगा, कृपया मुझे अपने पास ही रहने दीजिये, मैं कहीं नहीं जाना चाहता.”

भगवान् बोले, ” मेरे पास बहुत से फ़रिश्ते हैं, उन्ही में से एक मैंने तुम्हारे लिए चुन लिया है, वो तुम्हारा ख़याल रखेगा. “

“पर आप मुझे बताइए, यहाँ स्वर्ग में मैं कुछ नहीं करता बस गाता और मुस्कुराता हूँ, मेरे लिए खुश रहने के लिए इतना ही बहुत है.”

” तुम्हारा फ़रिश्ता तुम्हारे लिए गायेगा और हर रोज़ तुम्हारे लिए मुस्कुराएगा भी . और तुम उसका प्रेम महसूस करोगे और खुश रहोगे.”

” और जब वहां लोग मुझसे बात करेंगे तो मैं समझूंगा कैसे, मुझे तो उनकी भाषा नहीं आती ?”

” तुम्हारा फ़रिश्ता तुमसे सबसे मधुर और प्यारे शब्दों में बात करेगा, ऐसे शब्द जो तुमने यहाँ भी नहीं सुने होंगे, और बड़े धैर्य और सावधानी के साथ तुम्हारा फ़रिश्ता तुम्हे बोलना भी सीखाएगा .”

” और जब मुझे आपसे बात करनी हो तो मैं क्या करूँगा?”

” तुम्हारा फ़रिश्ता तुम्हे हाथ जोड़ कर प्रार्थना करना सीखाएगा, और इस तरह तुम मुझसे बात कर सकोगे.”

“मैंने सुना है कि धरती पर बुरे लोग भी होते हैं . उनसे मुझे कौन बचाएगा ?”

” तुम्हारा फ़रिश्ता तुम्हे बचाएगा, भले ही उसकी अपनी जान पर खतरा क्यों ना आ जाये.”

“लेकिन मैं हमेशा दुखी रहूँगा क्योंकि मैं आपको नहीं देख पाऊंगा.”

” तुम इसकी चिंता मत करो ; तुम्हारा फ़रिश्ता हमेशा तुमसे मेरे बारे में बात करेगा और तुम वापस मेरे पास कैसे आ सकते हो बतायेगा.”

उस वक़्त स्वर्ग में असीम शांति थी, पर पृथ्वी से किसी के कराहने की आवाज़ आ रही थी….बच्चा समझ गया कि अब उसे जाना है, और उसने रोते-रोते भगवान् से पूछा,” हे ईश्वर, अब तो मैं जाने वाला हूँ, कृपया मुझे उस फ़रिश्ते का नाम बता दीजिये ?’

भगवान् बोले, ” फ़रिश्ते के नाम का कोई महत्त्व नहीं है, बस इतना जानो कि तुम उसे माँ कह कर पुकारोगे .”

Wish4me to English

Ek samay kee baat hai, ek bachche kaa janm hone vaalaa thaa. Janm se kuchh kṣaṇa pahale usane bhagavaan se poochhaa ah ” main itanaa chhoṭaa hoon, khud se kuchh kar bhee naheen paataa, bhalaa dharatee par main kaise rahoongaa, kripayaa mujhe apane paas hee rahane deejiye, main kaheen naheen jaanaa chaahataa.”

bhagavaan bole, ” mere paas bahut se pharishte hain, unhee men se ek mainne tumhaare lie chun liyaa hai, vo tumhaaraa khayaal rakhegaa. “

“par aap mujhe bataaie, yahaan svarg men main kuchh naheen karataa bas gaataa aur muskuraataa hoon, mere lie khush rahane ke lie itanaa hee bahut hai.”

” tumhaaraa pharishtaa tumhaare lie gaayegaa aur har roza tumhaare lie muskuraaegaa bhee . Aur tum usakaa prem mahasoos karoge aur khush rahoge.”

” aur jab vahaan log mujhase baat karenge to main samajhoongaa kaise, mujhe to unakee bhaaṣaa naheen aatee ?”

” tumhaaraa pharishtaa tumase sabase madhur aur pyaare shabdon men baat karegaa, aise shabd jo tumane yahaan bhee naheen sune honge, aur bade dhairy aur saavadhaanee ke saath tumhaaraa pharishtaa tumhe bolanaa bhee seekhaa_egaa .”

” aur jab mujhe aapase baat karanee ho to main kyaa karoongaa?”

” tumhaaraa pharishtaa tumhe haath jod kar praarthanaa karanaa seekhaa_egaa, aur is tarah tum mujhase baat kar sakoge.”

“mainne sunaa hai ki dharatee par bure log bhee hote hain . Unase mujhe kaun bachaa_egaa ?”

” tumhaaraa pharishtaa tumhe bachaaegaa, bhale hee usakee apanee jaan par khataraa kyon naa aa jaaye.”

“lekin main hameshaa dukhee rahoongaa kyonki main aapako naheen dekh paa_oongaa.”

” tum isakee chintaa mat karo ; tumhaaraa pharishtaa hameshaa tumase mere baare men baat karegaa aur tum vaapas mere paas kaise aa sakate ho bataayegaa.”

us vaqat svarg men aseem shaanti thee, par prithvee se kisee ke karaahane kee aavaaza aa rahee thee…. Bachchaa samajh gayaa ki ab use jaanaa hai, aur usane rote-rote bhagavaan se poochhaa,” he iishvar, ab to main jaane vaalaa hoon, kripayaa mujhe us pharishte kaa naam bataa deejiye ?’

bhagavaan bole, ” pharishte ke naam kaa koii mahattv naheen hai, bas itanaa jaano ki tum use “maan” kah kar pukaaroge .”

Comments

comments