Tuesday , 19 September 2017
Latest Happenings
Home » Astrology » नवरात्रि 2017: 21 सितंबर से शुरू हो रहा है पर्व, नौ दिनों तक इन 9 चीजों से करें मां की पूजा

नवरात्रि 2017: 21 सितंबर से शुरू हो रहा है पर्व, नौ दिनों तक इन 9 चीजों से करें मां की पूजा

navaratri-2017-feast-is-starting-from-21st-of-september-do-9-days-of-these-9-things-to-worship-the-mother

navaratri-2017-feast-is-starting-from-21st-of-september-do-9-days-of-these-9-things-to-worship-the-mother

Navaratri 2017: Feast is starting from 21st of September, do 9 days of these 9 things to worship the mother

शारदीय नवरात्रि इस बार 21 सितंबर से शुरु हो रही है। नवरात्रि के नौ दिनों में प्रत्येक दिन मां दुर्गा के अलग-अलग रूपों की पूजा-अर्चना की जाती है। नवरात्रि के आते ही घर-घर में मां के आगमन की तैयारियां भी शुरू हो गई हैं। गुरुवार से शुरू होने वाली नवरात्रि के नौ दिनों में यदि नौ विशेष चीजों का इस्तेमाल किया जाए तो इससे मां की कृपा भक्तों पर बनी रहती है। यहां हम तिथि अनुसार बता रहे हैं, कि किन चीजों से मां की पूजा करनी चाहिए।

प्रथम तिथि

मान्यता है कि नवरात्रि के पहले भक्त मां की पूजा के दौरान षोडशौपचार पूजा कर गौ धृत का अपर्ण करें। इससे जीवन में काफी लाभ मिलता है व खुशहाली आती है।

द्वितीय तिथि

नवरात्रि के दूसरे दिन चीनी का इस्तेमाल करें। शक्कर का भोग करें और फिर उसे जरूरतमंदों व मंदिर में दान कर दें।

तृतीय तिथि

नवरात्रि की तृतीय तिथि 23 सितंबर को पड़ रही है। इस दिन मां की पूजा करते समय दूध का इस्तेमाल जरूर करें। इसके बाद इसे दान दे दें। इससे आपकी जिंदगी में आने वाले सभी दुख दूर हा जाएंगे।

चतुर्थी तिथि

नवरात्रि की चतुर्थी को मालपुवा का खासा महत्व है। इस दिन मालपुवा का अपर्ण करके उसे दान देना चाहिए। इससे आपकी फैसले लेने की शक्ति बढ़ती है।

पंचमी तिथि

नवरात्रि में केले का भी महत्व है। पूजा अर्चना में केले का इस्तेमाल सबसे ज्यादा किया जाता है। मान्यता है कि पांचवें दिन केले को पूजा अर्चना के दौरान चढ़ाना चाहिए। इसके साथ ही इसे किसी ब्राह्मण को दान कर दें।

षष्ठी तिथि 

नवरात्रि के छठवें दिन शहद का काफी महत्व है। इस दिन मां की पूजा करने के दौरान शहद का अपर्ण जरूर करें और फिर इसे दान कर दें।

सप्तमी तिथि

पहले के समय में जब भी किसी के घर मेहमान आता था तो गुड़ खाने को दिया जाता था। लेकिन समय बीतने के साथ ही गुड़ का प्रयोग कम होता गया। हालांकि, पूजा अर्चना में गुड़ अभी भी शामिल किया जाता है। ऐसे में नवरात्रि की सप्तमी को की जाने वाली पूजा में गुड़ का उपयोग जरूर करें।

अष्टमी तिथि

नवरात्रि में पूजन के समय जिस का उपयोग सबसे ज्यादा होता है, वह नारियल ही है। मां को नारियल चढ़ाया जाता है। ऐसे समय में अष्टमी में नारियल जरूर चढ़ाएं। यह लोगों में मौजूद किसी भी तरह की पीड़ा को दूर करता है।

नवमी तिथि

दिवाली में मां की पूजा करने के समय धान के लावा को शामिल किया जाता है। यह सिर्फ दिवाली में ही नहीं, बल्कि नवरात्रि में भी काफी इस्तेमाल होता है। मान्यता है कि नवरात्रि के नवमी को यदि धान का लावा से पूजा की जाए तो इससे जीवन में खुशहाली आती है।

Translate Into Hindi To English

Shardhiya Navratri is starting this September 21. Everyday nine days of Navratri, worship of different forms of Durga is worshiped. At the time of Navratri’s arrival, preparations for the arrival of the mother in the house-house have also started. If nine special things are used in nine days of Navratri starting on Thursday, then this grace of the mother remains on the devotees. Here we are telling according to what things should be worshiped by the mother.

First date

It is believed that before the Navaratri, worship the goddess after worshiping the devotee mother. This gives great benefits in life and brings happiness.

Second date

Use sugar on the second day of Navratri. Enjoy sugars and then donate it to the needy and temple.

Third date

The third date of Navratri is on September 23. You must use milk while worshiping the mother on this day. After this donate it. This will remove all the misery in your life.

Chaturthi Date

Navratri’s Chaturthi has a lot of significance. On this day, Malpua should be donated and donated. This increases the power to make your decisions.

Fifth date

Banana is also important in Navaratri. Banana is used most commonly in worship worship. It is believed that Banana should be pledged during worship service on the fifth day. Along with this, donate it to a Brahmin.

Semicolon date

Honey is very important on the sixth day of Navaratri. While worshiping the mother on this day, do not forget to give honey and donate it.

Seventh date

Whenever guests used to visit their house in earlier times, jaggery was given to eat. But with the passage of time, the use of jaggery reduced. However, jaggery is still included in the worship ritual. In such a way, use of jaggery in the worship of Saptami of Navaratri.

Ashtami Dat

Navratri is the coconut which is used most at the time of worship. Coconut is offered to the mother. At this time, offer coconut in Ashtami. It removes any kind of pain present in people.

November date

Puja lava is included when worshiping a mother in Diwali. This is not only in Diwali but it is also used in Navratri too. It is believed that if Navaratri Navami is worshiped by lava of paddy, then it brings happiness in life.

Comments

comments