Thursday , 13 July 2017
Latest Happenings
Home » Education » जब उनकी पत्नी बोलीं, ‘नाकामयाबी में भी, धैर्य से करते रहें काम-

जब उनकी पत्नी बोलीं, ‘नाकामयाबी में भी, धैर्य से करते रहें काम-

when-his-wife-said-working-in-patience-be-patient

when-his-wife-said-working-in-patience-be-patient

जब उनकी पत्नी बोलीं, 'नाकामयाबी में भी, धैर्य से करते रहें काम

जब उनकी पत्नी बोलीं, ‘नाकामयाबी में भी, धैर्य से करते रहें काम

नाथानिएल हौथोर्न अंग्रेजी के महान लेखक थे। एक दिन उन्हें कस्टम हाउस नौकरी से निकाल दिया गया। जब वह घर पहुंचे तो पत्नी से बोले, ‘आज मुझे नौकरी से निकाल दिया गया है।’

उनकी पत्नी सोफिया यह सुनकर कुछ परेशान हुईं और फिर मुस्करा कर बोलीं, ‘नाकामयाबी में धैर्य से काम करते रहना है। इतने हताश और उदास मत हो। मुझे पता है कि आप बहुत ही मेहनती, प्रतिभाशाली और विलक्षण इंसान हैं। अगर आपका यह रास्ता बंद हुआ है तो इसके साथ ही एक ऐसा रास्ता खुला है जो आपको भविष्य में सबके सामने प्रसिद्ध कर देगा।’

नाथानिएल हैरानी से बोले, ‘भला मेरी नौकरी छूटने से क्या अच्छा होगा?’ तब उनकी पत्नी बोलीं, ‘आप बहुत अच्छा लिखते हैं। आपके लेखन की शैली और भाषा गजब की है। नौकरी के कारण आप लेखन को पूरा समय नहीं दे पा रहे थे।

अब समय ही समय है। आप लिखिए, सफलता अवश्य मिलेगी।’ पत्नी की बात सुनकर नाथानिएल बोले, ‘लेकिन तब तक घर का खर्च कैसे चलेगा?’ सोफिया बोलीं, ‘आप लिखिए, तब तक घर खर्च मैं चलाऊंगी।’

इसके बाद नाथानिएल लेखन में जुट गए और सोफिया ने घर संभाल लिया।

दिन बीतते गए और एक साल बाद उन्होंने विक्टोरिया युग का महान उपन्यास ‘द स्कारलेट लैटर’ लिखा। जिसे नाथानिएल हौथोर्न को नई पहचान दी। और आज भी इसी उपन्यास से पहचाना जाता है।

Hindi to English

Nathaniel Hawthorne was a great writer of English. One day he was fired from the custom house job. When he reached the house, he said to the wife, ‘Today I have been fired from the job.’

His wife, Sophia, got disturbed by hearing this and then smiled and said, ‘Be patient while working in failure. Do not be so depressed and depressed. I know that you are a very industrious, talented and extraordinary person. If this is your way off, then there is a way open which will make you public in front of everyone. ‘

Nathaniel said with astonishment, ‘Well, what would be good if I got out of my job?’ Then his wife said, ‘You write very well. The style and language of your writing is awesome. Due to the job you were unable to complete the writing time.

Now is the time only. You write, you will definitely get success. ‘ Nathaniel, hearing the wife’s talk, said, ‘But how long will the house cost?’ Sophia said, ‘You write, I will run home till then.’

After that Nathaniel got involved in writing and Sophia took over the house.

The days passed and after one year, he wrote the great novel ‘The Scarlet Letter’ of the era of Victoria. Which gave new recognition to Nathaniel Hawthorne And today even today the novel is recognized.

Comments

comments