Monday , 3 July 2017
Latest Happenings
Home » Gyan Ganga » जहां धर्म वहां विजय

जहां धर्म वहां विजय

where-religion-prevails-here

where-religion-prevails-here

जहां धर्म वहां विजय

जहां धर्म वहां विजय

रूप नगर में एक दानी और धर्मात्मा राजा राज्य करता था। एक दिन उसके पास एक साधु आया और बोला, ‘आप बारह साल के लिए मुझे अपना राज्य दे दीजिए या अपना धर्म दे दीजिए।’

राजा बोला, ‘धर्म तो नहीं दे पाऊंगा। आप मेरा राज्य ले सकते हैं।’ साधु राजगद्दी पर बैठा और राजा जंगल की ओर चल पड़ा। जंगल में राजा को एक युवती मिली। उसने बताया कि वह आनंदपुर राज्य की राजकुमारी है। शत्रुओं ने उसके पिता की हत्या कर राज्य हड़प लिया है।

उस युवती के कहने पर राजा ने एक दूसरे नगर में रहना स्वीकार कर लिया। जब भी राजा को किसी वस्तु की आवश्यकता होती वह युवती मदद करती। एक दिन उस राजा से उस नगर का राजा मिला। दोनों में दोस्ती हो गई।

एक दिन उस विस्थापित राजा ने उसने नगर के राजा और उसके सैनिकों को भोज पर बुलाया। नगर का राजा हैरान था। यह देखकर कि उस विस्थापित राजा ने यह सारा इंतजाम कैसे किया।विस्थापित राजा भी हैरान था तब उसने उस युवती से पूछा, ‘तुमने इतने कम सयम में ये सारी व्यवस्थाएं कैसे की?’

उस युवती ने राजा से कहा, ‘आपका राज्य संभालने का वक्त आ गया है। आप जाकर राज्य संभालें। मैं युवती नहीं, धर्म हूं। एक दिन आपने राजपाट छोड़कर मुझे बचाया था, इसलिए मैंने आपकी मदद की।

जो धर्म को जानकर उसकी रक्षा करता है। धर्म उसकी रक्षा करता है। जहां धर्म है वहां विजय है। इसलिए धर्म को गहराई से समझना आवश्यक है।’

Hindi to English

A dan and dharmatma king ruled in Roop Nagar. One day a monk came to him and said, ‘You give me your state for twelve years or give your religion.’

The king said, ‘I can not give religion. You can take my state. ‘ The sage sat on the throne and the king headed towards the forest. The king got a young woman in the forest. She told that she is Princess of Anandpur State. The enemies have grabbed the kingdom by killing his father.

At the behest of that young woman, the king accepted to live in another city. Whenever the king needs anything, the young woman will help. One day the king found that king of that city. Both have become friends.

One day the displaced King called on the king and his soldiers at the banquet. The king of the city was shocked. Seeing how the displaced King arranged this whole arrangement. The emperor was also surprised, then he asked the young woman, ‘How did you do all these arrangements in such a short period?’

The young woman said to the king, ‘It is time to take over your kingdom. You go and handle the kingdom. I am not a woman, I am a religion. One day you left me from the palace and saved me, so I helped you.

Knowing religion, protects it. Religion protects her. Where there is religion there is victory. Therefore it is necessary to understand religion deeply. ‘

Comments

comments