Friday , 29 September 2017
Latest Happenings
Home » Tag Archives: lord

Tag Archives: lord

परशु’ प्रतीक है पराक्रम का

parashu-is-the-symbol-of-paramukhi

परशु प्रतीक है पराक्रम का राम पर्याय है सत्य सनातन का। इस प्रकार परशुराम का अर्थ हुआ पराक्रम के कारक और सत्य के धारक। नारायण के छठे अवतार भगवान परशुराम को कभी सही परिप्रेक्ष्य में समझा ही नहीं गया। नारायण ने एक साथ दो अवतार क्यों लिए? ऐसा हिंस्र अवतार!! नारायण को मनुष्य रूप में लेने की क्या अवश्यकता पड़ी? परशुराम ... Read More »

श्रीकृष्ण जी की के सात विशेष विग्रह

seven-special-enunciations-of-sri-krishna-ji

वृंदावन वह स्थान है, जहां भगवान श्रीकृष्ण ने बाललीलाएं की व अनेक राक्षसों का वध किया। यहां श्रीकृष्ण के विश्वप्रसिद्ध मंदिर भी हैं। आज हम आपको 7 ऐसी चमत्कारी श्रीकृष्ण प्रतिमाओं के बारे में बता रहे हैं, जिनका संबंध वृंदावन से है। इन 7 प्रतिमाओं में से 3 आज भी वृंदावन के मंदिरों में स्थापित हैं, वहीं 4 अन्य स्थानों ... Read More »

ईश-भक्ति में लीन भक्तों के साथ हर पल रहते हैं भगवान

There was a devout man in a city

किसी नगर में एक धर्मपरायण शख्स रहता था। वह सदैव ईश-भक्ति में लीन रहता और इस बात का हमेशा ख्याल रखता कि उसके द्वारा किसी का अहित न हो जाए। उसे इस बात का भी पूरा भरोसा था कि यदि वह दूसरों का अहित नहीं करेगा तो उसका भी अहित नहीं होगा। वह हमेशा भगवान से प्रार्थना करता कि उस ... Read More »

ऐसा क्या था बुद्ध के पैर में, एक ज्योतिषी रह गया दंग

आषाढ़ माह की गर्म दोपहर थी। भगवान बुद्ध अपने शिष्यों के साथ भ्रमण पर जा रहे थे। उस रास्ते में कहीं पेड़ भी नहीं थे। चारों तरफ बिखरी थी तो बस रेत ही रेत। रेत पर चलने के कारण तथागत् के पैरों के निशान बनते जा रहे थे। ये निशान सुंदर थे। तभी अचानक शिष्यों को दूर एक पेड़ दिखाई ... Read More »

शिव और नारायण के वर्चस्ववाद

‘परशु’ प्रतीक है पराक्रम का, ‘राम’ पर्याय है सत्य सनातन का। इस प्रकार परशुराम का अर्थ हुआ पराक्रम के कारक और सत्य के धारक। नारायण के छठे अवतार भगवान परशुराम को कभी सही परिप्रेक्ष्य में समझा ही नहीं गया।  नारायण ने एक साथ दो अवतार क्यों लिए??  ऐसा हिंस्र अवतार!!  नारायण को मनुष्य रूप में लेने की क्या अवश्यकता पड़ी? परशुराम ... Read More »

अय्यप्पा स्वामी मंदिर (Ayyappa Swamy Temple)

Ayyappa Swamy Temple

अय्यप्पा स्वामी मंदिर भारत के केरल राज्य में स्थित हिन्दुओं का एक प्रमुख धार्मिक स्थान है। यहां एक दिव्य ज्योति स्थित है, जो हर समय जलती रहती है। इस दिव्य ज्योति को मकर ज्योति कहते है। माना जाता है कि अय्यप्पा भगवान शिव और विष्णु अवतार मोहिनी के पुत्र थे। इस मंदिर (Lord Ayyappa Temple, Kerala) को दक्षिण भारत का ... Read More »

भव – भगवान शिव के अवतार (the incarnation of Lord Shiva)

Janiye Kya Hai Manes Pooja

भगवान रुद्र के स्वरूप का नाम भव है । इसी रूप में वे संपूर्ण सृष्टि में व्याप्त हैं तथा जगद्गुरु के रूप में वेदांत और योग का उपदेश देकर आत्म कल्याण का मार्ग प्रशस्त करते हैं । भगवान रुद्र का यह स्वरूप जगद्गुरु के रूप में वंदनीय है । भव – रुद्र की कृपा के बिना विद्या, योग, ज्ञान, भक्ति ... Read More »

भगवान श्रीकृष्ण एक थे या अनेक ? (Lord Krishna was one or many?)

Adi Guru Shri Krishan

ईसवीं सदी के प्रारंभ से अथवा उससे भी सैकड़ों वर्ष पहले से हमारे देश के अनेक प्रतिभाशाली एवं अनुभवी महर्षियों ने भगवान श्रीकृष्ण के चरित्र का वर्णन किया है, किंतु आधुनिक विद्वानों को छोड़कर किसी को भी यह शंका नहीं हुई कि उनके अच्छे या बुरे, लौकिक अथवा दिव्य जितने भी कर्म प्रसिद्ध हैं वे सारे एक व्यक्तियों के द्वारा ... Read More »

भगवान जगन्नाथ की रथयात्रा

Bhagavaan jagannaath kee rathayaatraa

जगन्नाथ रथयात्रा भारत में मनाए जाने वाले धार्मिक महामहोत्सवों में सबसे प्रमुख तथा महत्त्वपूर्ण मानी जाती है। यह रथयात्रा न केवल भारत बल्कि विदेशों से आने वाले पर्यटकों के लिए भी खासी दिलचस्पी और आकर्षण का केंद्र बनती है। भगवान श्रीकृष्ण के अवतार जगन्नाथ की रथयात्रा का पुण्य सौ यज्ञों के बराबर माना जाता है। सागर तट पर बसे पुरी ... Read More »