Wednesday , 12 July 2017
Latest Happenings
Home » Uncategorized » इस तरह मिल सकता है सच्चा सुख

इस तरह मिल सकता है सच्चा सुख

true-happiness-can-be-found-in-this-way

true-happiness-can-be-found-in-this-way

इस तरह मिल सकता है सच्चा सुख

                                                    इस तरह मिल सकता है सच्चा सुख

एक बार वीर शिवाजी के गुरु समर्थ स्वामी रामदासजी भिक्षा मांगते हुए एक घर के सामने खड़े हुए और उन्होंने आवाज लगायी – जय जय रघुवीर समर्थ! घर से महिला बाहर आयी। उसने उनकी झोली मे भिक्षा डाली और कहा, महात्माजी, कोई उपदेश दीजिए। स्वामीजी बोले, आज नहीं, कल दूंगा।

दूसरे दिन स्वामीजी ने पुन: उस घर के सामने आवाज दी उस घर की स्त्रीने उस दिन खीर बनाई थी, जिसमे बादाम-पिस्ते भी डाले थे। वह खीर का कटोरा लेकर बाहर आयी। स्वामीजी ने अपना कमंडल आगे कर दिया। वह स्त्री जब खीर डालने लगी, तो उसने देखा कि कमंडल में गोबर और कूड़ा भरा पड़ा है। उसके हाथ ठिठक गए। वह बोली, महाराज ! यह कमंडल तो गन्दा है।

स्वामीजी बोले, हां, गन्दा तो है, किन्तु खीर इसमें डाल दो। स्त्री बोली, नहीं महाराज, तब तो खीर ख़राब हो जायेगी। दीजिए यह कमंडल, में इसे शुद्ध कर लाती हूं।

स्वामीजी बोले, मतलब जब यह कमंडल साफ हो जाएगा, तभी खीर डालोगी न? तब स्वामी जी उपदेश दिया कि…

IN English

Once, the master of Veer Shivaji, Swami Ramdasji stood in front of a house demanding Bhikshi and he made the voice – Jai Jai Raghuvir Samarth! The woman from the house came out. He bowed down in his lap, and said, Mahatmaji, give no sermons. Swamiji said, not today, I will give tomorrow.

On the second day Swamiji again voiced the house that the lady of that house had made a kheer on that day, which included almond-pistachios. He came out with a bowl of Kheer. Swamiji made his own kendall forward. When the woman started kheer, she saw that there was dung and garbage in the kamandal. His hands got alert. That quote, chef! This kamandal is so messy.

Swamiji said, yes, it is messy, but put Kheer in it. Female quote, no chef, then the kheer will get spoiled. Let me purify it in this Kandalal.

Swamiji said, that is, when this kamandal will be cleansed, then you will not wear pudding? Then Swamiji taught that …

Comments

comments